विवादों में घिरे MS Dhoni, बिहार के बेगूसराय में कैप्टन कूल पर FIR दर्ज, जानिए पूरा मामला

Fir filed against Ms Dhoni: पूर्व भारतीय कप्तान और आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की कमान संभालने वाले महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर चर्चाओं में हैं. कैप्टन कूल के खिलाफ बिहार के बेगूसराय में एफआईआर दर्ज हुई है. धोनी के अलावा 7 अन्य लोगों को इस केस में अभियुक्त बनाया गया है. दरअसल यह मामला धोखाधड़ी से जुड़ा हुआ है.

भारी मात्रा में बच गया उर्वरक
धोनी और 7 अन्य लोगों पर यह केस खाद विक्रेता ने दर्ज कराया है. आरोप है कि 30 लाख रुपये की चेक के बाउंस होने के मामले में यह केस दर्ज हुआ है. दरअसल यह दो कंपनियों के बीच का विवाद है. एसके इंटरप्राइजेज बेगूसराय नामक एजेंसी के साथ एक खाद कंपनी ने अपने प्रोडक्ट की बिक्री के लिए बॉन्ड किया था. कंपनी की तरफ से एजेंसी को खाद तो भेज दिया लेकिन वहां से मार्केटिंग में सहयोग नहीं किया गया. आरोप है कि प्रोडक्ट की बिक्री के क्रम में कंपनी ने उन्हें सहयोग नहीं किया, इससे भारी मात्रा में उर्वरक बच गया. इसके बाद एजेंसी के मालिक नीरज ने कंपनी पर असहयोग का आरोप लगाते हुए कहा कि इसकी वजह से उन्हें नुकसान हुआ है.

चेक हो गया बाउंस
बाद में कंपनी ने बचा हुआ उर्वरक वापस ले लिया और इसके बदले में 30 लाख का चेक भी उनकी एजेंसी के नाम दे दिया गया, लेकिन यह चके बाउंस हो गया. इसकी सूचना लीगल नोटिस के द्वारा कंपनी को दी गई. अब तक इसका निराकरण नहीं हो पाया है और न ही कंपनी ने कोई वाजिब जवाब दिया है. इसके बाद कंपनी के सीईओ राजेश आर्य सहित कंपनी के सात अन्य पदाधिकारियों पर मामला दर्ज करवाया गया. इस प्रोडक्ट का महेंद्र सिंह धोनी ने विज्ञापन किया था इसलिए उनका नाम भी शिकायत में दर्ज है.

केस में धोनी का नाम भी
महेंद्र सिंह धोनी ने इस प्रोडक्ट का विज्ञापन किया था ऐसे में नीरज कुमार निराला ने धोनी पर भी केस दर्ज करवाया है. कोर्ट ने इस मामले को स्वीकार कर लिया है और इस पर अगली सुनवाई 28 जून के होगी. केस में पूर्व भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का नाम शामिल होने के कारण यह केस चर्चाओ में है. 

ये भी पढ़ें…

IPL 2022: गुजरात टाइटंस के चैंपियन बनने के बाद ट्रॉफी के साथ सोया कोच नेहरा का परिवार, सामने आई ये तस्वीर

IPL: इन विदेशी खिलाड़ियों ने राजस्थान रॉयल्स के लिए बनाए हैं सबसे ज्यादा रन, देखें लिस्ट